QUITTING SMOKING AND TOBACCO BY SELF DISCIPLINE

हर वर्ष लाखों करोड़ो लोग तम्बाकू  एंव अन्य प्रकार का नशा करते है और शायद उन्हें यह एक मामूली सी बात लगती है, लेकिन ऐसा करके वे अपने परिवार एंव बच्चों को धोखा देते है|

तम्बाकू उत्पादो का सेवन लोग सिगरेट , बीड़ी, गुटखा , जर्दा , हुक्का , एवं चिलम के रूप मे अनेक प्रकार से करते हैं| यह लेख केवल उन लोगों के लिए है जो वाकई में नशा छोड़ना चाहते है|

नशा छोड़ना एक मजबूत निर्णय है जो व्यक्ति को धुम्रपान या नशे की गुलामी से मुक्त करने में एक नींव का काम करता है| व्यक्ति नशा तभी छोड़ सकता है जब वह इस निर्णय को आज और इसी क्षण से लागू करे क्योंकि ज्यादातर लोग जिंदगी भर नशा केवल इसलिए नहीं छोड़ पाते क्योंकि वे नशा छोड़ने की शुरुआत कल से करना चाहते है और आज आखिरी बार जी भर कर नशा कर लेना चाहते है|

तम्बाकू का नशा छोड़ने की कोशिश करने पर बेचैनी , अनिद्रा , तनाव , सिरदर्द , हाथ पैर काँपना, भूख  ना लगना  जैसे लक्षण  शुरू हो जाते हैं| जिन्हे विड्रावल लक्षण (Withdrawal Symptoms) कहा जाता हैं|

इन लक्षणों के साथ ही नशे की तीव्र तलब लगती हैं जिससे व्यक्ति परेशान होकर दुबारा नशा शुरू कर देता हैं| इस तरह नशा करने वाला व्यक्ति  एक चक्रव्यूह में फंस जाता हैं|  लेकिन यदि दृढ निश्चय करते हुए पूरी कोशिश की जाये  तो नशा छोङना आसान हो सकता हैं|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *